पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री को है तत्काल इलाज की आवश्यकता : रिपोर्ट

भ्रष्टाचार के मामले में पाकिस्तान की जेल में कैद पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को हृदय की गंभीर समस्याओं से बचने के लिए तत्काल उपचार की आवश्यकता है. मीडिया खबरों में उनकी चिकित्सा रिपोर्ट के हवाले से बुधवार को यह दावा किया गया है. लाहौर में सात साल की कैद काट रहे शरीफ को मंगलवार को हृदय संबंधी समस्या होने पर अस्पताल ले जाया गया.
69 वर्षीय शरीफ को उच्च सुरक्षा वाले कोट लखपत जेल से लाहौर के पंजाब इंस्टीट्यूट ऑफ कार्डियोलॉजी (पीआईसी) ले जाया गया, हालांकि जांच के बाद उन्हें अस्पताल से वापस जेल भेज दिया गया.

नवभारत टाइम्स की ख़बरों के अनुसार एक वरिष्ठ डॉक्टर ने ‘डॉन’ को बताया है की ‘‘शरीफ की मंगलवार को हुई चिकित्सा जांच के अनुसार उनकी हालत गंभीर नहीं है लेकिन हृदय संबंधी जटिलताओं से बचने के लिए उन्हें तत्काल और नियमित इलाज की आवश्यकता है.’’  उन्होंने यह भी कहा कि शरीफ की एंजियोग्राफी की जा सकती है. रिपोर्ट के अनुसार शरीफ की स्ट्रेस थैलियम टेस्ट में ‘पोस्ट स्ट्रेस एलवी पंप/कॉन्ट्रेक्शन’ 56 प्रतिशत आया है, जो सामान्य है. इस परीक्षण से पता चलता है  कि किसी व्यक्ति के हृदय में रुधिर का बहाव कैसा है. साथ ही उनके हृदय के बाएं वेन्ट्रीकल का निचला हिस्सा छतिग्रस्त है.

नवभारत टाइम्स की ख़बरों के अनुसार नवाज शरीफ की बेटी मरियम ने अपने पिता की इस हालत पर चिंता व्यक्त करते हुए ट्वीट किया है की , ‘‘मेरे पिता के साथ क्या हो रहा है मेरे पास यह जानने का एकमात्र स्रोत  मीडिया है.’’ शरीफ के भाई शहबाज ने सरकार से तीन बार प्रधानमंत्री रह चुके नवाज को सर्वश्रेष्ठ स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करने की अपील की है.

गौरतलब है कि शरीफ की जेल में जांच करने वाले एक विशेष चिकित्सा बोर्ड ने पिछले सप्ताह कहा था कि वह पूरी तरह स्वस्थ्य नहीं है और इलाज के बारे में कुछ भी कहने से पहले कुछ और जांचें की जाने की आवश्यकता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *