दुनिया के इन देशों पर कब्ज़ा करना मुश्किल ही नहीं बल्कि नामुमकिन है

दुनिया में कुछ देश बहुत कमजोर हैं, जिन पर कब्ज़ा करना आसान हो जाता है और कई ऐसे देश हैं जिन पर बड़े देशों ने कब्ज़ा किया हुआ है और वह किसी बड़े देश के गुलाम हैं जैसे तिब्बत.. लेकिन कुछ ऐसे भी देश हैं जिन पर कब्ज़ा करने से पहले सोचना पड़ता है.. आज इंटरनेशनल न्यूज हिंदी आपको उन देशों के बारे में बताएगा जिन पर अगर दुश्मन कब्ज़ा करने का भी विचार करे तो उसे सोचना पड़े, क्योंकि यह देश अपनी आर्मी और भौगोलिक स्थिति की वजह से सुरक्षित हैं. यह हैं दुनिया के दस वह देश जिनसे जीतना काफी मुश्किल है और इन देशों पर कब्ज़ा करना भी काफी मुश्किल है.

ईरान : दूसरे विश्व युद्ध के बाद से कोई भी देश ईरान पर हमला नहीं कर सका है . ईरान की आर्मी में लगभग 5 लाख सैनिक है लेकिन इससे ज्यादा ताकतवर सैनिक दुसरे देशों के पास है तब भी इस देश में घुसना इसके पहाड़ी इलाको की वजह से काफी मुश्किल है . ईरान की सरकार के पास बहुत से अंडर ग्राउंड आर्मी बेसेस के नेटवर्क हैं, जो ईरान के लगभग हर शहर के ५०० मीटर नीचे बने हुए हैं.

ऑस्ट्रेलिया : ऑस्ट्रेलिया दुनिया के सबसे खुबसूरत देशों में से एक है इस देश पर भी कब्ज़ा काफी करना काफी मुश्किल है. इस देश के आस पास कोई भी ताकतवर देश नहीं है जो इस पर हमला कर सके . इसकी ताकत आर्मी नहीं बल्कि इस देश की भौगोलिक स्थिति है.

रूस : अगर आप जानना चाहते हैं की रूस से जीतना कितना मुश्किल है तो आप हिटलर और नेपोलियन के इतिहास को पढ़ सकते हो, इसकी ताकत भी इस देश की भोगोलिक स्थिति है.क्योंकि यह पहाड़ो के बीच घिरा है. यह वर्तमान में दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा ताकतवर देश है. इस देश की आर्मी तो अपने देश को सुरक्षित रखती ही है बल्कि यह देश क्षेत्रफल में बड़े होने की वजह से भी ताकतवर है जिस पर कब्ज़ा करना बेहद ही मुश्किल है.

अमेरिका : वर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प का यह देश दुनिया का सबसे ताकतवर देश हैं.. इस देश की ताकत आर्मी है और साथ ही साथ इस देश के हर नागरिक का दीमाग भी है.. इस देश के पास वर्तमान में 7 हजार न्युक्लिएर हथियार हैं, दुसरे विश्व युद्ध के बाद से अभी तक को भी देश अमेरिका पर हमला नहीं कर पाया है. क्योंकि दुसरे  विश्व युद्ध में अमेरिका ने जापान के हिरोशिमा और नागासाकी शहर में परमाणु बम गिराकर पूरी दुनिया को अपनी ताकत दिखा दी थी.

भारत : भारत भी उन देशों में है जिन पर कब्ज़ा करना मुश्किल है.. इस देश की ताकत इस देश की आर्मी और भौगोलिक स्थिति है. भारत के पडोशी देश कई बार भारत पर हमला कर चुके हैं लेकिन कभी भी सफल नहीं हुए हैं .. बहरत भी उत्तर की ओर हिमालय की पहाड़ियों से घिरा है और दक्षिण में समुद्र से.. भारत में 14 लाख सैनिक हैं.

नॉर्थ कोरिया : इस देश की दुश्मनी दुनिया के सबसे ताकतवर देशों से है लेकिन फिर भी इस पर कोई भी देश हमला नहीं कर सकता है. इसकी वजह है इस देश का दम. नॉर्थ कोरिया में चार हजार से ज्यादा टैंक और 10 लाख से ज्यादा सैनिक है और कई परमाणु हथियार है जिस वजह से इससे ज्यादातर देश डरते है . नार्थ कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन नेताओं में से एक हैं जो अपनी बात को पूरा करते हैं.

भूटान : यह दुनिया के उन गिने चुने देशों में से एक है जिन पर कभी भी किसी देश ने कब्ज़ा नहीं किया है. इस देश की भी भौगोलिक परिस्तिथियाँ इस देश को कब्ज़ा होने से बचा लेंगी अगर कभी इस देश पर कब्ज़ा हुआ तो. क्योंकि हजारों कोष दूर इस देश पर कब्ज़ा करने के लिए टैंक इत्यादि हथियार ले जाने में समस्या होगी और साथ ही साथ इस देश की सुरक्षा का वादा इंडिया ने किया है तो अगर कभी इस देश पर कब्ज़ा होता है तो भारत हमेशा इस देश की मदद के लिए आगे आएगा..

इजराइल : मिडिल ईस्ट में इजराइल एक बहुत छोटा सा देश है और अपने आस पास के सभी देशों से इसकी दुश्मनी भी है .इस देश के पास अमेरिका का सबसे ज्यादा सपोर्ट है जिस वजह से सभी देश इस पर हमला करने से डरते है . इस देश की औरतों को हर साल कम से कम 2 साल और आदमियों को तीन साल आर्मी ट्रेनिंग दी जाती है, जिस वजह से इस देश के हर नागरिक के पास दुश्मनों से लड़ने की ताकत है.

कनाडा : इसकी आर्मी में केवल 15000 सैनिक हैं लेकिन इन्हें अपनी सुरक्षा के लिए आर्मी की जरुरत नहीं पड़ती. इस देश का क्षेत्रफल ही इस देश पर कब्ज़ा होने से इस देश को बचा देगा और इस देश पर अमेरिका का साथ भी बना हुआ है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *