कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा- ‘मोदी सरकार मौलिक आधिकारों का हनन कर रही है’

इस समय की सबसे बड़ी खबर ये है की केंद्र सरकार ने अपनी केबिनेट मंत्रियो के साथ एक बड़ा फैसला लिया है- जिसमे केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने शक्रवार को 10 केन्द्रीय एजेंसियों को देश के किसी भी कंप्यूटर की जासूसी करने की इजाजत दे दी है.  ध्यान रहे अब आपके हर डाटा पर मोदी सरकार की नज़र है.

अब केन्द्रीय एजेंसियों  कि नज़र आपके हर कंप्यूटर पर रहेगी, केंद्र सरकार अब हर चीज कि जासूसी करेगी. वही कांग्रेस के रास्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने  मोदी सरकार पर  हमला किया उन्होंने कहा- ‘मोदी सरकार मौलिक आधिकारों का हनन कर रही है’ जिससे संविधान का अपमान हो रहा है और अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए ये भी कहा कि- ‘अबकी बार,निजता पर वार’.

असदुद्दीन ओवैसी

वही केंद्र सरकार के इस फैसले पर नाराज़गी दिखाते हुए  दिखे सीपीआई (एम) महासचिव सीताराम येचुरी, असदुद्दीन ओवैसी. सीताराम येचुरी ने कहा कि हर भारतीय जनता को अपराधी कि नज़र से देखना गलत है, ये संविधान का अपमान है इसे टेली फोन, दिशा-निर्देशों और गोपनीयता को उल्लंघन करने वाला निर्णय है. वही  मोदी सरकार और  10 एजेंसियों हर कंप्यूटर पर अपनी नज़र गड़ाए रखेगी.

ये केंद्रीय एजेंसिया रखेंगी नजर –
गृह मंत्रालय के आदेश के मुताबिक इंटेलिजेंस ब्यूरो,प्रवर्तन निदेशालय, सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्स, सीबीआई, एनआईए,नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो, डायरेक्टरेट ऑफ रेवेन्यू इंटेलिजेंस,डायरेक्टरेट ऑफ सिग्नल इंटेलिजेंस और दिल्ली के कमिश्नर ऑफ पुलिस को देश के सभी कंप्यूटर की जासूसी की मंजूरी दी गई है.

मोदी सरकार के देश के हर कंप्यूटर पर नज़र रखने के फैसले पर असदुद्दीन ओवैसी ने भी उनका  खुल कर विरोध किया-  कहा कि अब समझ में आया कि घर-घर मोदी का मतलब क्या है? असदुद्दीन ओवैसी ने ट्वीट ओवैसी ने आगे लिखा कि अब समझ में आया कि घर-घर मोदी का मतलब आपके कंप्यूटर में झांकना है. जॉर्ज ऑरवेल का बिग ब्रदर यहां है और 1984 में आपका स्वागत है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *